- Advertisement -
- Advertisement -

Uttarakhand Disaster: ग्लेशियर की वजह से मरने वालों की संख्या हुई 62, शुक्रवार को मिला एक और शव

चमोली जिले में बाढ़ (Flood) प्रभावित क्षेत्र से एक और शव मिला है, जिससे ग्लेशियर (Glacier) टूटने की आपदा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है।

00:01:57

शौचालय में रहने को मजबूर महिला की मदद करने नालंदा पहुँची अक्षरा सिंह, दिया आर्थिक मदद

 भोजपुरीं फिल्मों की खूबसूरत अदाकारा और गायिका अक्षरा सिंह (Akshara Singh) अक्सर ही सुर्खियों में रहती है। कभी अपने गानो को लेकर तो कभी...
00:01:32

भोजपुरीं स्टार प्रदीप पांडे चिंटू ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, हॉस्पिटल के स्टाफ का किया सम्मान

 भोजपुरीं फिल्मो के युवा स्टार प्रदीप पांडे चिन्टू (Pradeep Pandey Chintu) ने हाल ही में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। वैक्सीन लगवाते हुए फोटोज को...
00:16:56

निरहुआ की एक्टिंग, पवन सिंह की सिंगिंग और खेसारी के कॉमेडी के फैन एक्टर प्रेम सिंह से खास बातचीत

भोजपुरीं फिल्मों के राउडी हीरो कहे जाने वाले एक्टर प्रेम सिंह (Prem Singh) ने लहरे से बातचीत के दौरान अपनी आने वाली फिल्मो के...

Uttarakhand Disaster One more dead body found: उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली में 12 फरवरी को ग्लेशियर टूटने से तबाही मच गई है। राहत कार्यों का काम लगातार जारी है। केंद्र सरकार और राज्य सरकार साथ मिलकर काम कर रहे हैं। बता दे, चमोली जिले में बाढ़ (Flood) प्रभावित क्षेत्र से एक और शव मिला है, जिससे ग्लेशियर (Glacier) टूटने की आपदा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है।

वहीं एनटीपीसी की तपोवन-विशनुगढ़ जलविद्युत परियोजना स्थल पर 13वें दिन भी खोज और बचाव अभियान जारी है। चमोली जिले की पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि एक शव जोशीमठ और पीपलकोटी के बीच हेलंग में अलकनंदा के तट से बृहस्पतिपार देर रात मिला। इस हादसे के बाद उत्तराखंड पुलिस के अनुसार 202 लोग गायब थे।

ये भी पढ़े: CM Yogi का आदेश किसानों की उपज का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाए

वही शव मिलने के बाद पुलिस ने बताया कि शव टीएचडीसी के एक कॉफर बैराज में मिला. पुलिस ने कहा कि इसके साथ ही 7 फरवरी की आपदा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है जबकि 142 लोग अभी भी लापता हैं। तपोवन-विष्णुगढ़ जलविद्युत परियोजना के इनटेक टनल से अब तक 13 शव निकाले जा चुके हैं, जहां आपदा के बाद से अब तक बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान जारी कर दिया गया है।

इसी के साथ ही पुलिस ने बताया कि इसके अलावा, प्रभावित क्षेत्र में विभिन्न स्थानों से 28 मानव अंग भी मिले हैं, जिनमें से एक की पहचान कर ली गई है। पुलिस ने कहा कि अब तक मिले 62 में से 33 शवों की पहचान कर ली गई है। पुलिस ने बताया कि अज्ञात शवों के डीएनए को संरक्षित किया जा रहा है। ऋषिगंगा पर ग्लेशियर टूटने से हिमस्खलन हुआ था, जिससे नदी के किनारे 13.2 मेगावाट की एक जलविद्युत परियोजना ध्वस्त हो गई थी जबकि धौलीगंगा के साथ लगती एनटीपीसी की तपोवन-विष्णुगढ़ जलविद्युत परियोजना को व्यापक नुकसान पहुंचा था।

Alt Balaji के ‘Broken But Beautiful 3’ एल्बम से ब्रोकन अनप्लग्ड 3 हुआ...

Broken unplugged 3: ऑल्ट बालाजी (Alt Balaji) का नवीनतम रोमांस ड्रामा, 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' (Broken But Beautiful 3) जिसमें सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla)...

‘शेरनी’ से पहले, ये हैं वो कारण जिनकी वजह से आप Vidya Balan...

Vidya Balan soulful jungle trip: तारीख को चिह्नित करें, क्योंकि अमेज़ॅन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) की शेरनी (Sherni) आपके दिल और दिमाग में...

शौचालय में रहने को मजबूर महिला की मदद करने नालंदा पहुँची अक्षरा सिंह,...

 भोजपुरीं फिल्मों की खूबसूरत अदाकारा और गायिका अक्षरा सिंह (Akshara Singh) अक्सर ही सुर्खियों में रहती है। कभी अपने गानो को लेकर तो कभी...
- Advertisement -