- Advertisement -
- Advertisement -

Farmers Protest: कृषि कानूनों के खिलाफ याचिकाओं पर 11 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

कृषि कानूनों (Agricultural laws) पर केंद्र सरकार (Central Government) और किसानों के बीच बातचीत से फिलहाल कोई हल नहीं होते देख सुप्रीम कोर्ट ने फैसला किया है कि सोमवार 11 जनवरी को इस मामले पर सुनवाई की जाएगी।

00:01:57

शौचालय में रहने को मजबूर महिला की मदद करने नालंदा पहुँची अक्षरा सिंह, दिया आर्थिक मदद

 भोजपुरीं फिल्मों की खूबसूरत अदाकारा और गायिका अक्षरा सिंह (Akshara Singh) अक्सर ही सुर्खियों में रहती है। कभी अपने गानो को लेकर तो कभी...
00:01:32

भोजपुरीं स्टार प्रदीप पांडे चिंटू ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, हॉस्पिटल के स्टाफ का किया सम्मान

 भोजपुरीं फिल्मो के युवा स्टार प्रदीप पांडे चिन्टू (Pradeep Pandey Chintu) ने हाल ही में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। वैक्सीन लगवाते हुए फोटोज को...
00:16:56

निरहुआ की एक्टिंग, पवन सिंह की सिंगिंग और खेसारी के कॉमेडी के फैन एक्टर प्रेम सिंह से खास बातचीत

भोजपुरीं फिल्मों के राउडी हीरो कहे जाने वाले एक्टर प्रेम सिंह (Prem Singh) ने लहरे से बातचीत के दौरान अपनी आने वाली फिल्मो के...

Supreme Court Decision: दिल्ली बॉर्डर पर पिछले कई दिनों से किसान प्रदर्शन पर बैठे है। वही अब कृषि कानूनों (Agricultural laws) पर केंद्र सरकार (Central Government) और किसानों के बीच बातचीत से फिलहाल कोई हल नहीं होते देख सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने फैसला किया है कि सोमवार 11 जनवरी को इस मामले पर सुनवाई की जाएगी। अबतक सरकार और किसानों के बीच 8 दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन किसी तरह का हल नहीं निकल पाया है, किसान सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं जबकि सरकार कानूनों में सुधार के लिए तैयार है। बुधवार को सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court Decision) में पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और अटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि हमें उम्मीद है कि जल्द ही यह गतिरोध समाप्त होगा।

केन्द्र ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि किसानों के साथ कृषि कानूनों (Agricultural laws) पर ‘‘स्वस्थ वार्ता’’ जारी है, जिस पर शीर्ष अदालत ने कहा कि वह बातचीत को प्रोत्साहित करती है। इसपर मुख्य न्यायाधीश एसए बोबड़े ने टिप्पणी करते हुए कहा कि हमें हालात में कोई बदलाव नहीं दिख रहा है। मुख्य न्यायाधीश ने यह भी कहा कि वे हालात से वाकिफ हैं और चाहते हैं कि बातचीत और बढ़ें।

ये भी पढ़े: पश्चिम बंगाल पहुंचे Assaduddin Owaisi, बढ़ सकती है Mamata Banerjee की परेशानी

किसान कानूनों के विरोध में कई राज्यों से आए किसान दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले बैठे हैं, किसानों के विरोध प्रदर्शन को 41 दिन हो चुके हैं और आज 42वां दिन है। अब तक किसानों और सरकार में आठ दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन नतीजा नहीं निकल सका है। किसानों और सरकार के बीच अगले दौर की बात 8 जनवरी को होनी है।

कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसान, दोनों अपने-अपने रुख से पीछे हटने को तैयार नहीं है। किसानों का कहना है कि जब तक सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व्यवस्था बनी रहना सुनिश्चित करने के लिए कानून नहीं लाती, तब तक किसान आंदोलन जारी रखेंगे।

Bhuvan Bam के माता-पिता का COVID-19 से निधन, इमोशनल नोट शेयर करते हुए...

YouTuber Bhuvan Bam Loses Parents to Covid-19: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Cornavirus Second Wave) ने बहुत से लोगों से उनके अपनों...

Alt Balaji के ‘Broken But Beautiful 3’ एल्बम से ब्रोकन अनप्लग्ड 3 हुआ...

Broken unplugged 3: ऑल्ट बालाजी (Alt Balaji) का नवीनतम रोमांस ड्रामा, 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' (Broken But Beautiful 3) जिसमें सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla)...

‘शेरनी’ से पहले, ये हैं वो कारण जिनकी वजह से आप Vidya Balan...

Vidya Balan soulful jungle trip: तारीख को चिह्नित करें, क्योंकि अमेज़ॅन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) की शेरनी (Sherni) आपके दिल और दिमाग में...
- Advertisement -