- Advertisement -
- Advertisement -

Farmers Protest: शनिवार को रात 12 बजे तक दिल्‍ली के तीनों बॉर्डर पर बंद था इंटरनेट सेवा

शनिवार के दिन 12 बजे तक बंद रखने का फैसला लिया गया। यानी कि रात 12 बजे तक सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सर्विस अस्थाई रूप से बंद रखी गई।


Internet Services Suspended: दिल्ली बॉर्डर (Delhi Border) पर केंद्रीय कृषि कानूनों (Agricultural laws) के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी है। इस बीच दिल्ली बॉर्डर के पास तीन किसान आंदोलन स्थलों पर इंटरनेट शनिवार के दिन 12 बजे तक बंद रखने (Internet Services Suspended) का फैसला लिया गया। यानी कि रात 12 बजे तक सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सर्विस अस्थाई रूप से बंद रखी गई।

इससे पहले भी सुरक्षा के मद्देनजर इन तीनों बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा को अस्थाई रूप से बंद रखने के आदेश दिए गए थे। हलाकि किसान आंदोलन (Farmers Protest) को देखते हुए हरियाणा में भी कुछ दिनों के लिए इंटरनेट बैन किया गया था। हरियाणा के 14 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद की गई थी।

ये भी पढ़े: पॉप स्टार Rihanna के ट्वीट के बाद से इंटरनेशनल फोरम पर छाया किसान आंदोलन, कई बड़े सेलिब्रिटीज ने किया समर्थन

बता दें कि शनिवार के दिन यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर देश के बाकी राज्यों में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक ये चक्का जाम बुलाया गया। इस दौरान जगह-जगह सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए थे। दिल्ली बॉर्डर के पास भी सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रही।

उधर, इंटरनेट बैन करने को लेकर विदेश से भी आवाजें उठने लगी हैं। बीते दिन ही यूएन मानवाधिकार ने ट्वीट कर इस मसले पर सवाल खड़े किए। कई इंटरनेशनल हस्तियों ने भी इस पर ट्वीट किया है। जिसके बाद देश में काफी विवाद देखने को मिला।

गौरतलब है कि सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर किसान आंदोलन के प्रमुख केंद्र बन गए हैं। इन तीनों बॉर्डर पर हजारों किसान दो महीने से अधिक समय से कृषि कानूनों के विरोध में डटे हैं। उनकी मांग है कि तीन कृषि कानूनों को वापस लिया जाए, साथ ही एमएसपी की कानूनी गारंटी दी जाए।

इस मसले पर सरकार से किसान संगठनों की कई राउंड की बातचीत हो चुकी है। इस बीच गाजीपुर बॉर्डर पर हाल ही में बड़ी गहमागहमी देखी गई। जब किसान नेता राकेश टिकैत के भावुक होने के बाद माहौल गरमा गया।

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें