- Advertisement -
- Advertisement -

Good News: भारत पहुंची कोरोना वायरस की रूसी वैक्सीन Sputnik V की पहली खेप, क्लिनिकल ट्रायल जल्द होगा शुरू

Coronavirus Vaccine: रूसी कोरोना वायरस (Coronavirus Vaccine) की वैक्सीन भारत आ गई है। भारत की दिग्गज फार्मा कंपनी डॉक्टर रेड्डीज़ (Dr. Reddy) जल्द ही भारत में इस कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V ( Sputnik V ) का 2 दूसरे और तीसरे चरण का अडेप्टिव क्लिनिकल ट्रायल (Adaptive Clinical Trial) शुरू करेगी।


Coronavirus Vaccine: रूसी कोरोना वायरस (Coronavirus Vaccine) की वैक्सीन भारत आ गई है। भारत की दिग्गज फार्मा कंपनी डॉक्टर रेड्डीज़ (Dr. Reddy) जल्द ही भारत में इस कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V ( Sputnik V ) का 2 दूसरे और तीसरे चरण का अडेप्टिव क्लिनिकल ट्रायल (Adaptive Clinical Trial) शुरू करेगी। हाल ही में इस कंपनी को कोरोना वैक्सीन के भारत में ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) की अनुमति मिली थी। डॉ. रेड्डीज (Dr.Reddy’s) और स्पुतनिक V के वाहन से उतारे जा रहे छोटे कंटेनरों का एक वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

दक्षिण भारत के अखबार न्यू इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार डॉ. रेड्डी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि की है कि टीके भारत में आ चुके हैं और शीघ्र ही क्लीनिकल ट्रायल भी शुरू हो जाएंगे। गामाले नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी और रूसी डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड ने कल ही घोषणा की थी कि स्पूतनिक V वैक्सीन कोविड-19 के खिलाफ लोगों की सुरक्षा में 92% प्रभावी पाया गया है।

Coronavirus Vaccine

डॉ. रेड्डी (Dr. Reddy) के पहले से साझा की गई जानकारी के अनुसार, यह एक मल्टी-सेंटर और रैंडम अध्ययन होगा जिसमें सुरक्षा और इम्युनोजेनिक अध्ययन शामिल होंगे। सितंबर में जब डॉ. रेड्डी (Dr. Reddy) ने भारत में स्पुतनिक V के क्लिनिकल ट्रायल के संचालन और यहाँ इसके वितरण के लिए RDIF के साथ साझेदारी की थी। साझेदारी के तहत, आरडीआईएफ डॉ. रेड्डी को विनियामक अनुमोदन पर वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक की आपूर्ति करेगा।

आपको बता दें कि देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बीच दिल्ली में बुधवार को कोविड के आंकड़ों ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को 8,593 नए मामले सामने आए। वहीं, महाराष्ट्र अभी भी कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य बना हुआ है। यहां अब तक कुल 17,31,833 मामले दर्ज हुए हैं और 45,560 मरीजों की मौत हो चुकी है। ऐसे में ये रुसी कोरोना वैक्सीन देश में कोरोना संक्रमण को कम करने में काफी मदद करेगा।

आपको यह भी पसंद आ सकता है...
- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें