Shreyas Talpade से जब Nagesh Kukunoor ने पूछा था किसका हसबैंड बनेगा Gula Panag का या Ayesha Takia का, जानिए क्या था तब एक्टर का रिएक्शन

अभिनेता श्रेयस तलपड़े की सुपर नेचुरल पावर पर बेस फिल्म कर्तम भुगतम रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म के लिए की गई बातचीत में लहरें से एक्टर ने अपनी पहले की फिल्मों को लेकर कई रोचक बातें साझा की हैं

Shreyas Talpade’s Insider Stories from Iqbal To Om Shanti Om: अभिनेता श्रेयस तलपड़े की फिल्म कर्तम भुगतम रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म श्रेयस तलपड़े ने काफी अच्छा काम किया है और उनके काम को क्रिटिक्स काफी पसंद कर रहे हैं। फिल्म को लेकर श्रेयस तलपड़े से वरिष्ठ पत्रकार भारती एस प्रधान ने लहरें रेट्रो के लिए खास बातचीत हाल ही में की है। श्रेयस के साथ ही बातचीत में निर्देशक सोहम शाह भी मौजूद थे। दोनों ने अपनी इस फिल्म को लेकर काफी विस्तार से बातें की हैं। श्रेयस ने बताया कि कर्तम भुगतम फिल्म काफी फ्रेश है और लोग इसे पसंद करेंगे। इसी बातचीत में श्रेयस ने अपनी डेब्यू फिल्म इकबाल को लेकर कई रोचक तथ्य लहरें से साझा किए हैं।

श्रेयस तलपड़े ने लहरें रेट्रो से बातचीत में बताया कि इकबाल के लिए जब उनका सेलेक्शन हुआ था। तब वो करीब 29 साल के थे और उन्हे 18 साल के एक ऐसे लड़के का किरदार निभाना था, जो बोल और सुन नहीं सकता था। फिर भी उसके बड़े सपने थे। वो देश के लिए क्रिकेट खेलना चाहता था। सुभाष घई द्वारा निर्मित इस फिल्म को लोगों ने खूब सराहा था जो 2005 में रिलीज हुई थी। इसे नागेश कुकूनूर ने निर्देशित किया था। श्रेयस ने इस बारे में और बातें करते हुए कहा कि नागेश का फंडा एकदम क्लीयर था। वो कहते दो स्टेप चलना है तो दो ही स्टेप चलना होता था। आज मैं जो कुछ भी हूं नागेश की वजह से हूं। इकबाल के बाद श्रेयस नागेश की अगली फिल्म डोर में भी नजर आए थे।

डोर के बारे में बात करते हुए श्रेयस ने कहा कि एक बार तो नागेश ने पूछा कि तू किसका हसबैंड बनेगा गुल पनाग का या फिर आयशा टाकिया का। इस पर श्रेयस ने कहा कि दोनों ही खूबसूरत हैं। जिसका बना दो। आपको बता दें कि डोर भी एक सराही फिल्म थी जिसमें श्रेयस ने एक बहुरूपिये का रोल प्ले किया था। इकबाल और डोर जैसी सीरियस फिल्म करने की वजह से श्रेयस के हाथ उस वक्त एक बड़ी कॉमेडी फिल्म निकल गई थी। इस बारे में श्रेयस ने बात करते हुए कहा कि एक निर्देशक उनके पास आए और बोले कॉमेडी फिल्म में काम करना है। ऑडिशन भी हुआ और मैं पास भी हो गया लेकिन डायरेक्टर ने कहा कि तुम्हारी इमेज सीरियस रोल करने की है। पता नहीं दर्शक तुम्हे स्वीकार करेंगे भी या नहीं। इस वजह से उन्हे फिल्म में नहीं लिया।

श्रेयस इस बारे में आगे बताते हैं कि बाद में जब उन्हे रोहित शेट्टी की फिल्म गोलमाल रिटर्न्स मिली, तो उनके रोल को खूब सराहा गया। जब इस फिल्म की सक्सेज पार्टी हुई तो इसमें पहले वाले निर्देशक महोदय भी आए थे और उन्होने श्रेयस को अपनी फिल्म में न लेने के लिए सॉरी भी बोला और कहा कि माफ करना भाई, पहचानने में गलती हो गई और फिर दोनों ने साथ में फिल्म भी की। हालाकि श्रेयस ने उस निर्देशक का नाम नहीं बताया। लहरें रेट्रो के साथ ये पूरा इंटरव्यू देखने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर सकते हैं या फिर लहरें रेट्रो के यूट्यूब चैनल पर इसे देख सकते हैं।

ये भी पढ़े: वहीं घिसा-पीटा स्टाइल, कुछ तो अलग करों… किसी ने किया पसंद किसी ने ट्रोल, Aishwarya के Cannes Look पर बवाल!

ताज़ा ख़बरें