- Advertisement -
- Advertisement -

Unlock 5.0: श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर बदरीनाथ, केदारनाथ धाम में हर दिन जा सकेंगे तीन हजार यात्री

Uttarakhand Chardham Yatra 2020: देशभर में जहा कोरोना काल अभी भी जारी है। इस बीच लोगों को कई चीजों पर छूट लगातार दिया जा रहा है। अब अनलॉक 5 (Unlock 5) में उत्तराखंड (Uttarakhand) के उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध धामों, बदरीनाथ (Badrinath) और केदारनाथ (Kedarnath) के दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं (Devotees) के लिए अच्छी खबर सामने आई है।


Uttarakhand Chardham Yatra 2020: देशभर में जहा कोरोना काल अभी भी जारी है। इस बीच लोगों को कई चीजों पर छूट लगातार दिया जा रहा है। अब अनलॉक 5 (Unlock 5) में उत्तराखंड (Uttarakhand) के उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध धामों, बदरीनाथ (Badrinath) और केदारनाथ (Kedarnath) के दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं (Devotees) के लिए अच्छी खबर सामने आई है। अब इन धामों की मैक्सिमम लिमिट में बढ़ोतरी करते हुए उसे अब प्रतिदिन तीन हजार कर दिया गया है। आपको बता दे, उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड (Uttarakhand Chardham Devasthanam Board) द्वारा जारी ताजा आदेश के अनुसार, गंगोत्री धाम (Gangotri Dham) के लिए श्रद्धालुओं की मैक्सिमम संख्या 900 और यमुनोत्री धाम (Yamunotri Dham) के लिए 700 कर दी गई है। हालांकि इसमें हेलीकॉप्टर सेवा का उपयोग कर धामों का दर्शन करने आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या शामिल नहीं है।

देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा के लिए पिछले दिनों प्रदेश से बाहर के यात्रियों के लिए कोरोना-मुक्त जांच रिपोर्ट लाने की बाध्यता हटा दी थी जिसके बाद धामों के दर्शन के लिए ई-पास मांगने वालों की संख्या में भारी वृद्धि हुई। इसी के मद्देनजर बोर्ड ने चारों धामों के दर्शन हेतु तीर्थयात्रियों की अधिकतम संख्या को बढ़ा दिया है। बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने बताया कि अब बदरीनाथ धाम में प्रतिदिन 3000, केदारनाथ में 3000, गंगोत्री में 900 तथा यमुनोत्री में 700 तीर्थयात्री दर्शन कर सकेंगे।

ये भी पढ़े: बंगाल में BJP नेता की हत्या पर संबित पात्रा के निशाने पर आई ममता बनर्जी, पूछा- ममता जी आप मनीष शुक्ला के घर कब जाएंगी

बदरीनाथ

इससे पहले, बोर्ड ने चमोली, रूद्रप्रयाग एवं उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी थी ताकि सुविधाओं के अनुसार तीर्थयात्रियों की संख्या बढाई जा सके। बदरीनाथ चमोली जिले में, केदारनाथ रूद्रप्रयाग जिले में तथा गंगोत्री और यमुनोत्री उत्तरकाशी जिले में स्थित है। पहले बदरीनाथ जाने के लिए 1200, केदारनाथ के लिए 800, गंगोत्री के लिए 600 तथा यमुनोत्री के लिए अधिकतम 400 श्रद्धालुओं को ही अनुमति दी जा रही थी।

केदारनाथ

आपको बता दे, देश में कोरोना वायरस से संक्रमितियों की संख्या 60 लाख से अधिक पार कर चुकी है।

Uttarakhand Chardham Yatra 2020

आपको यह भी पसंद आ सकता है...
- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें