- Advertisement -
- Advertisement -

BJP पर शिवसेना का हमला, अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए चंदा वसूलने पर खड़े हुए सवाल

अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए चंदा वसूलने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र सामना में चंदा वसूलने को लेकर कई सवाल उठाए हैं।

00:01:34

जब पहली बीवी Amrita संग Kareena की Debut Film देखने गए थे Saif Ali Khan

पावर कपल कहे जाने वाले सैफ अली खान (Saif Ali Khan) और करीना कपूर (Kareena Kapoor) की शादी को आठ साल हो चुके हैं।...
00:01:12

तो इस वजह से Govinda ने नहीं की थी फिल्म Gadar

आप हिंदी फिल्मों के दीवाने हों और आपने सनी देओल (Sunny Deol) की फिल्म ग़दर: एक प्रेम कथा (Gadar: Ek Prem Katha) ना देखी...
00:02:05

क्या Raveena ने की थी Ajay Devgn के लिए Suicide की कोशिश

खबरों की मानें तो Ajay Devgn और Raveena Tandon रिलेशनशिप में थे कि तभी अजय की जिंदगी में करिश्मा की एंट्री हुई | Karisma...

Ram Mandir Donation Campaign: अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए चंदा वसूलने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र सामना में चंदा वसूलने को लेकर कई सवाल उठाए हैं। शिवसेना ने पूछा कि मंदिर निर्माण कार्य के लिए हर घर से चंदा इकट्ठा करनेवाली ‘टोली’ बनाई गई है। 4 लाख स्वयंसेवक चंदे के लिए हर द्वार पर जाएंगे. ये स्वयंसेवक कौन हैं? उनकी नियुक्ति किसने की? शिवसेना ने अपने मुखपत्र में कहा कि कोर्ट का निर्णय आते ही प्रधानमंत्री मोदी की उपस्थिति में मंदिर का भूमि पूजन भी हुआ। मंदिर का काम तेजी से चल रहा है अर्थात 2024 के लोकसभा चुनाव के पहले तंबू में विराजमान रामलला मंदिर में विराजमान हो जाएंगे। अब इस मंदिर निर्माण कार्य के लिए हर घर से चंदा इकट्ठा करनेवाली ‘टोली’ बनाई गई है, जोकि मजेदार है।

शिवसेना (Shiv Sena) ने कहा कि 4 लाख स्वयंसेवक चंदे के लिए हर द्वार पर जाएंगे। ये स्वयंसेवक कौन हैं? उनकी नियुक्ति किसने की? मंदिर निर्माण का खर्च लगभग 300 करोड़ है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने राम मंदिर निर्माण की निधि की चिंता न करें, ऐसा कहा है। मर्यादा पुरुषोत्तम राम का मंदिर देश की अस्मिता का मंदिर है और इसके लिए दुनिया भर के हिंदुत्ववादियों ने पहले ही खजाना खाली कर दिया है। इसलिए घर-घर जाकर दान इकट्ठा करने से क्या हासिल होगा?

ये भी पढ़े: Uttar Pradesh में महिलाएं बनेंगी आत्म निर्भर, जानिए क्या है Yogi सरकार की खास तैयारी ?

शिवसेना (Shiv Sena) ने पूछा कि इस काम के लिए 4 लाख स्वयंसेवकों की नियुक्ति हुई होगी तो उन स्वयंसेवकों का मुख्य संगठन कौन-सा है? यह स्पष्ट हो जाएगा तो अच्छा होगा। चंदे के नाम पर ये 4 लाख स्वयंसेवक एकाध पार्टी के राजनीतिक प्रचारक के रूप में घर-घर जानेवाले होंगे तो ये मंदिर के लिए अपना खून बहानेवालों की आत्मा का अपमान होगा। मंदिर की लड़ाई राजनीतिक नहीं थी। वह समस्त हिंदू भावनाओं का उद्रेक था। उस उद्रेक से ही हिंदुत्व की चिंगारी जल उठी और आज की भाजपा उसी आग पर पकी रोटियां खा रही है।

शिवसेना (Shiv Sena) ने कहा कि 4 लाख स्वयंसेवक मंदिर के चंदे के निमित्त संपर्क अभियान चलानेवाले हैं। यह संपर्क अभियान मतलब राम की आड़ में 2024 का चुनाव प्रचार है. राम के नाम का राजनीतिक प्रचार रुकना ही चाहिए। मंदिर निर्माण के पश्चात चुनाव प्रचार में राम नहीं, बल्कि विकास होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं दिख रहा। वनवास समाप्त होने के बावजूद श्रीराम की अड़चन जारी है।

पढ़ें ताज़ा गपशप मनोरंजन से जुडी ख़बरें , बॉलीवुड जगत की ख़बरें और गपशप , भोजपुरी फिल्मों से जुडी ख़बरें और गाने, सेलिब्रिटी न्यूज़, सेलिब्रिटी फोटोज, देश और दुनिया की ख़बरें हिंदी में - लहरें को फॉलो करें फेसबुक , ट्विटर और यूट्यूब पर.

↓       अगली खबर के लिए नीचे स्क्रॉल करें      ↓

Assembly Election 2021: जानिए आखिर क्यों 5 राज्यों के चुनाव में NRI नहीं...

Assembly Election 2021 NRI Won't be able to Vote: विदेश में रह रहे प्रवासी भारतीय मतदाताओं को मार्च और अप्रैल में पांच राज्‍यों में...

Corona Virus Vaccine: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लगवाया कोरोना का टीका

Health minister Harsh Vardhan and his wife got the first dose of covid-19 vaccine: देश में कोरोना (Corona) संक्रमण रोकने को लेकर चल रही...

Nirahua Bhojpuri Holi Song: होली के मौके पर निरहुआ का राजनीतिक गाना का...

Dinesh Lal Yadav Nirahua​ New Bhojpuri Holi Song: भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री (Bhojpuri Film Industry) के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव (Dinesh Lal Yadav) उर्फ निरहुआ...
- Advertisement -