- Advertisement -
- Advertisement -

Farmers Protest: सरकार से 15 जनवरी को बात करेंगे किसान यूनियन के महासचिव राकेश टिकैत

केंद्र सरकार और किसान संगठन के नेताओं के बीच अब तक 8 दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन कोई भी सहमति नहीं बन पाई है। किसान नेता लगातार तीनों कृषि कानूनों को काला कानून करार देते हुए इन्हें रद्द कराने की मांग कर रहे हैं।

00:01:57

शौचालय में रहने को मजबूर महिला की मदद करने नालंदा पहुँची अक्षरा सिंह, दिया आर्थिक मदद

 भोजपुरीं फिल्मों की खूबसूरत अदाकारा और गायिका अक्षरा सिंह (Akshara Singh) अक्सर ही सुर्खियों में रहती है। कभी अपने गानो को लेकर तो कभी...
00:01:32

भोजपुरीं स्टार प्रदीप पांडे चिंटू ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, हॉस्पिटल के स्टाफ का किया सम्मान

 भोजपुरीं फिल्मो के युवा स्टार प्रदीप पांडे चिन्टू (Pradeep Pandey Chintu) ने हाल ही में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। वैक्सीन लगवाते हुए फोटोज को...
00:16:56

निरहुआ की एक्टिंग, पवन सिंह की सिंगिंग और खेसारी के कॉमेडी के फैन एक्टर प्रेम सिंह से खास बातचीत

भोजपुरीं फिल्मों के राउडी हीरो कहे जाने वाले एक्टर प्रेम सिंह (Prem Singh) ने लहरे से बातचीत के दौरान अपनी आने वाली फिल्मो के...

Rakesh Tikait will talk with Government: नए कृषि कानूनों (New Agriculture Laws) के अमल पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है, लेकिन अब भी किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है और किसान लगातार कानूनों को वापस करने की मांग कर रहे हैं। इस बीच किसान संगठनों और सरकार के बीच शुक्रवार को 9वें दौर की बातचीत होनी है।

26 जनवरी को निकलेगी ट्रैक्टर परेड: राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के महासचिव राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा, ‘सरकार से कल (15 जनवरी) वार्ता के लिए जाएंगे। इसके साथ ही 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालेंगे और हमें जितना आतंकवादी कहेंगे, उतनी तगड़ी परेड निकलेगी। ‘ उन्होंने कहा, ‘ट्रैक्टर रैली को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है। इसके बाद सोमवार को बात करेंगे। इसके बाद 23 जनवरी को देश के अलग-अलग राज्यों के गवर्नर का घेराव करेंगे.’

ये भी पढ़े: Delhi Police में बड़ा फेरबदल, 8 IPS अफसरों का तबादला

15 जनवरी को 9वें दौर की बातचीत

बता दें कि केंद्र सरकार और किसान संगठन के नेताओं के बीच अब तक 8 दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन कोई भी सहमति नहीं बन पाई है। किसान नेता लगातार तीनों कृषि कानूनों को काला कानून करार देते हुए इन्हें रद्द कराने की मांग कर रहे हैं, जबकि सरकार प्रावधानों में बदलाव करते हुए इन्हें बरकरार रखने की जिद्द पर अड़ी है। किसानों का साफ कहना है कि वे कानून रद्द होने तक प्रदर्शन जारी रखेंगे। अब किसान संगठन और सरकार के बीच 9वें दौर की बातचीत 15 जनवरी को होनी है।

केंद्र ने की ट्रैक्टर रैली पर रोक की मांग

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से अपील की है कि कोर्ट किसान संगठनों की गणतंत्र दिवस को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली पर रोक लगाए, क्योंकि ऐसी रैली से विश्व में देश के सम्मान को ठेस पहुंचेगी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी किया है और सोमवार को इस मामले की सुनवाई होगी। बता दें कि किसानों ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली और देश के अन्य हिस्सों में टैक्टर परेड निकालने की चेतावनी दी है। इससे पहले किसानों ने 7 जनवरी को दिल्ली के चारों तरफ ट्रैक्टर रैली निकाली थी।

2 महीने में अपनी रिपोर्ट देगी कमेटी

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी नए कृषि कानूनों (New Agriculture Laws) के हर पक्ष से बात करेगी और सीधे सर्वोच्च अदालत को ही रिपोर्ट करेगी। कमेटी अगले दस दिन में अपनी पहली बैठक करेगी और बैठक के दो महीने के भीतर सुप्रीम कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

Alt Balaji के ‘Broken But Beautiful 3’ एल्बम से ब्रोकन अनप्लग्ड 3 हुआ...

Broken unplugged 3: ऑल्ट बालाजी (Alt Balaji) का नवीनतम रोमांस ड्रामा, 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' (Broken But Beautiful 3) जिसमें सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla)...

‘शेरनी’ से पहले, ये हैं वो कारण जिनकी वजह से आप Vidya Balan...

Vidya Balan soulful jungle trip: तारीख को चिह्नित करें, क्योंकि अमेज़ॅन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) की शेरनी (Sherni) आपके दिल और दिमाग में...

शौचालय में रहने को मजबूर महिला की मदद करने नालंदा पहुँची अक्षरा सिंह,...

 भोजपुरीं फिल्मों की खूबसूरत अदाकारा और गायिका अक्षरा सिंह (Akshara Singh) अक्सर ही सुर्खियों में रहती है। कभी अपने गानो को लेकर तो कभी...
- Advertisement -