- Advertisement -
- Advertisement -

Drugs Case: दामाद की गिरफ्तारी पर मंत्री Nawab Malik ने कहा- ‘मुझे हमारी न्यायपालिका पर अटूट विश्वास है’

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री (Maharashtra Cabinet Minister) नवाब मलिक (Nawab Malik) के दामाद समीर खान (Sameer Khan Arrested) की गिरफ्तारी के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) की कार्रवाई और तेज हुई है।


Maharashtra Cabinet Minister Nawab Malik: महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री (Maharashtra Cabinet Minister) नवाब मलिक (Nawab Malik) के दामाद समीर खान (Sameer Khan Arrested) की गिरफ्तारी के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) की कार्रवाई और तेज हुई है। एनसीबी सूत्रों के मुताबिक समीर ने पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं। इस दौरान सबसे चौकानें वाली बात ये सामने आई कि समीर खान के कम से कम दो राजनेताओं के साथ व्हाट्सएप चैट्स (WhatsApp Chat) हैं। जिनकी विशेष जांच अब NCB कर रही है। गौरतलब है कि एनसीबी ने बुधवार को समीर खान को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। लंबी पूछताछ के बाद देर शाम उनकी गिरफ्तारी कर ली गई।

समीर खान का पॉलिटिकल कनेक्शन

समीर के पॉलिटिकल कनेक्शन की चर्चाओं के बीच उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) सरकार में कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने ट्वीट करते हुए कहा है कि कानून से ऊपर कोई भी नहीं है। जल्द ही सच्चाई सबके सामने आएगी। देश की न्याय व्यवस्था पर मुझे पूरा यकीन है।

ये भी पढ़े: Farmers Protest: सरकार से 15 जनवरी को बात करेंगे किसान यूनियन के महासचिव राकेश टिकैत

Maharashtra Cabinet Minister Nawab Malik

ड्रग्स सिंडिकेट की तह तक पहुंचेगी NCB

NCB सूत्रों के मुताबिक इसके साथ ही समीर खान के बैंक एकाउंट्स की भी जांच की जाएगी। हालांकि NCB को लगता है कि समीर अक्सर कैश में डील करता होगा। NCB को अभी तक की जांच में करण सजनानी और समीर खान के बीच काफी बड़े लेन-देन का पता चला है। NCB अब समीर खान के ड्रग्स सिंडिकेट में फाइनेंस से जुड़े रोल को भी खंगाल रही है।

सोशल मीडिया एकाउंट्स की पड़ताल

NCB एजेंसी समीर खान की पूरी आर्थिक सामाजिक और राजनीतिक कुंडली खंगाल रही है। NCB सूत्रों के मुताबिक समीर खान का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है। उसे अब फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा। अभी तक की पूछताछ के बाद समीर के करीब 23 व्हाट्सअप मैसेज ऐसे है, जिनकी जांच की जा रही है. ड्रग्स केस (Drugs Case) की जांच कर रही एजेंसी को लगता है कि कुछ बेहद गोपनीय मैसेज भी होंगे, जिन्हें डिलीट किया गया होगा। उस डेटा तक पहुंचने के लिए भी कवायद जारी है।

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें