- Advertisement -
- Advertisement -

3 साल की बच्ची को बचाने के लिए ललितपुर से भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ी ट्रेन, जानें पूरा मामला

3 Year Old Girl Kidnapping Matter: एक बार फिर भारतीय रेलवे (Indian Railway) विभाग ने गर्व से चौड़ा होने वाला काम कर दिखाया है। रेलवे विभाग ने एक और इंसानियत की मिसाल बना दी है। दरअसल ये मामला है उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का।


3 Year Old Girl Kidnapping Matter: एक बार फिर भारतीय रेलवे (Indian Railway) विभाग ने गर्व से चौड़ा होने वाला काम कर दिखाया है। रेलवे विभाग ने एक और इंसानियत की मिसाल बना दी है। दरअसल ये मामला है उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का। जलहि में उत्तर प्रदेश में तीन साल की एक बच्ची की जान बचाने के लिए एक ट्रेन को नॉनस्टॉप (Non Stop) दौड़ाया गया। आपको बता दे इस दौरान ट्रेन स्टेशन से खुलने के बाद बीच में कहीं पर भी नहीं रोकी गई। ट्रैन को सीधे भोपाल स्टेशन (Bhopal Station) पर पहुंचने के बाद ही रोका गया और वहां पहुंचते ही बच्ची को बचा लिया गया। शायद भारतीय रेलवे के लिए यह पहला मौका है जब अपहरणकर्ता को पकड़ने के लिए ट्रेन को नॉनस्‍टॉप चलाया गया।

आपको बता दे ये मामला ललितपुर रेलवे स्टेशन (Lalitpur Railway Station) का है जहां पर एक 3 साल की मासूम बच्ची का अपहरण हो गया था। अपहरणकर्ता बच्ची को गोद में लेकर भोपाल की तरफ जा रही राप्तीसागर एक्सप्रेस में सवार हो गया। मामले का खुलासा उस समय हुआ जब लापता बच्ची की खोजबीन करते हुए परिजन ललितपुर रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। परिजनों ने जब शिकायत की कि उनकी बच्ची रेलवे स्टेशन से ही लापता हो गई है इसके बाद हरकत में आए आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालना शुरू किया। तब सीसीटीवी कैमरे में एक ऐसी तस्वीर कैद मिली जिसमें एक युवक 3 साल की बच्ची को गोद में लेकर ट्रेन में सवार होता हुआ दिखाई दिया। जब तक आरपीएफ पूरे मामले को समझ पाती तब तक बच्ची का अपहरण हो चुका था और अपहरणकर्ता बच्ची को लेकर ट्रेन से फरार हो गया था। मामले की जानकारी मिलने के बाद झांसी में आरपीएफ के इंस्पेक्टर ने ऑपरेटिंग कंट्रोल भोपाल को पूरे मामले की सूचना दी। उन्होंने राप्तीसागर एक्सप्रेस को ललितपुर से लेकर भोपाल के बीच किसी भी स्टेशन पर न रोकने का अनुरोध किया।

इसके बाद आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर के अनुरोध को मानते हुए ऑपरेटिंग कंट्रोल भोपाल ने राप्तीसागर को ललितपुर से लेकर भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ा दिया। ट्रेन को नॉनस्टॉप इसलिए चलाया गया ताकि किडनैपर बच्ची को लेकर बीच में पड़ने वाले किसी स्टेशन पर उतर कर न भाग सके। भोपाल रेलवे स्टेशन पर अपहरणकर्ता को पकड़ने के लिए ट्रेन का बेसब्री से इंतजार हो रहा था। जैसे ही ट्रेन भोपाल रेलवे स्टेशन पर पहुंची मौके पर मौजूद आरपीएफ और जीआरपी के अफसरों ने अपहरणकर्ता को ट्रेन की एक बोगी से खोज निकाला। आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर रविंद्र सिंह रजावत की सजगता और सूझबूझ से किडनैप हुई मासूम बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया गया। पुलिस ने किडनैपर को भी गिरफ्तार कर लिया और बच्ची को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।

ये भी पढ़े: UP में सड़क दुर्घटना में 5 साधु घायल, CM योगी ने घायलों की तत्काल मदद करने का दिया निर्देश

आपको यह भी पसंद आ सकता है...
- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें