- Advertisement -
- Advertisement -

Farmers Protest: आंदोलन शुरू करने से 40 दिन पहले ही किसान तय कर चुके थे, ये 3 जरूरी बातें

दिल्ली के अंदर और बॉर्डर पर होने वाले आंदोलन की तैयारी 40 दिन पहले ही करदी गई थी। जरूरी बात तो ये है ये तयारी ज्यादा लंबी-चौड़ी न होकर सिर्फ तीन लाइनों की है।


Farmers Protest against New Agriculture Bill: केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा कृषि सुधारों के तहत लागू किए गए कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ बीते 10 दिनों से किसान दिल्ली से सटी सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। वही दिल्ली के अंदर और बॉर्डर पर होने वाले आंदोलन की तैयारी 40 दिन पहले ही करदी गई थी। जरूरी बात तो ये है ये तयारी ज्यादा लंबी-चौड़ी न होकर सिर्फ तीन लाइनों की है। इसी तीन लाइन पर किसान आंदोलन (Kisan Andolan) चल रहा है और आगे भी चलना है। ऐसा उस मीटिंग में तय हो चुका है जहां यह स्क्रिप्ट लिखी गई थी। यही वजह है कि स्क्रिप्ट के मुताबिक ही किसान (Farmer) अपने साथ 6 महीने का राशन साथ लेकर चले हैं।

26 अक्टूबर को दिल्ली में लिखी गई थी स्क्रिप्ट

वही दूसरी ओर किसान आंदोलन से जुड़े एक पदाधिकारी के मुताबिक 26 अक्टूबर को दिल्ली में किसानों की एक मीटिंग बुलाई गई थी। मीटिंग में सभी अलग-अलग किसान संगठनों के 240 लोग जमा हुए थे। इसी मीटिंग में 26 नवंबर से शुरु होने वाले आंदोलन को लेकर कुछ अहम बातें चर्चा में आईं थी। मीटिंग के दौरान ही तय हुआ था कि आंदोलन के दौरान सरकार के साथ होने वाली किसी भी स्तर की बातचीत में 3-4 नहीं कम से कम 30-40 लोग जाएंगे।

हम सिर्फ सरकार की वहीं बात मानेंगे जिसमे वो कहेगी कि हम किसानों की मांग ज्यों की त्यों मान रहे हैं और तीसरी सबसे अहम यह बात रखी गई थी कि मांग न माने जाने पर हमे किसी भी हाल में पीछे नहीं हटना है। इसके लिए हम कम से कम 6 महीने का राशन साथ लेकर चलेंगे।

ये भी पढ़े: पिछले 24 घंटे में US में आए कोरोना के 2 लाख से ज्यादा नए मामले, 2,907 लोगों की गई जान

एमएसपी पर सरकार लिखित आश्‍वासन देने को तैयार

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि वह किसान यूनियनों द्वारा की गई मांगों पर विचार कर रहा है और शनिवार को होने वाली पांचवें दौर की वार्ता में सफलता का विश्वास व्यक्त किया है। बैठक की पूर्व संध्या पर अपनी स्थिति को मजबूत करते हुए, आंदोलनकारी किसानों ने 8 दिसंबर को ‘भारत बंद’ की घोषणा की और विरोध प्रदर्शन तेज करने की धमकी दी।

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें