- Advertisement -
- Advertisement -

SRK की Pathaan को फ्लॉप होने का खतरा क्योंकि सिनेमाघरों में दोबारा रिलीज होगी The Kashmir Files, जाने फिल्म की रिलीज डेट

सुपरहिट रह चुकी फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' के दोबारा रिलीज होने से शाहरुख की फिल्म 'पठान' पर फ्लॉप का खतरा मंडरा सकता है।


The Kashmir Files To Re-Release: साल 2022 में आई सुपरहिट फिल्म द कश्मीर फाइल्स एक बार फिर से सिनेमाघरों में रिलीज होने को तैयार है। पिछले साल रिलीज हुई इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया था, बॉलीवुड में यह इकलौती फिल्म थी जिसने बॉक्स पर धमाल मचा दिया था। यह फिल्म अब सिनेमाघरों में दोबारा रिलीज होने वाली है। इस फिल्म के डायरेक्टर ने फैंस के लिए एक खुशखबरी दी दै। अब यह फिल्म 19 जनवरी 2023 को सीधे सिनेमाघरों में दोबारा रिलीज होगी।

इस बात की जानकारी फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने एक ट्वीट करके दी। उन्होंने बुधवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘’घोषणा:#TheKashmirFiles 19 जनवरी – कश्मीरी हिंदू नरसंहार दिवस पर फिर से रिलीज़ हो रही है। यह पहली बार है जब कोई फिल्म साल में दो बार रिलीज हो रही है। अगर आप इसे बिग स्क्रीन पर देखने से चूक गए हैं, तो अभी अपने टिकट बुक करें।‘’

इस फिल्म का दोबारा रिलीज होना शाहरुख की फिल्म पठान पर सीधा असर डाल सकती है।क्योंकि पठान 25 जनवरी 2023 को रिलीज हो रही और उससे पहले द कश्मीर फाइल्स रिलीज हो रही है।तो ऐसे में दर्शकों का रूझान फिल्म पठान पर न जाकर सीधा द कश्मीर फाइल्स पर जायेगा। अगर ऐसा होता है तो पठान के फ्लॉप होने के असार पक्के हैं।

दर्शकों का इमोशन द कश्मीर फाइल्स जुड़ा हुआ, क्योकिं यह हिंदूओ के जेनोसाइड की कहानी है। वहीं दूसरी ओर दर्शक फिल्म पठान के नाम से ही चिढ़े हुए और ट्रोल गैंग लगातार पठान को ट्रोल करने में लगी हुई हैं।बहराल अब देखना होगा कि द कश्मीर फाइल्स का फिल्म पठान पर क्या प्रभाव पड़ता है।

द कश्मीर फाइल्स की बात करे तो इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर पिछले साल 300 करोड़ से अधिक कमाई की थी। इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती, अनुपम खेर, दर्शन कुमार और पल्लवी जोशी जैसी बड़ी स्टारकास्ट थी।इस फिल्म को दर्शकों का काफी प्यार मिला था। यह फिल्म 1990 के दशक में कश्मीर से कश्मीरी हिंदुओं के पलायन और कत्लेआम पर आधारित है।

ये भी पढ़े: साउथ एक्ट्रेस Amala Paul को हिंदू मंदिर में नहीं मिली एंट्री, एक्ट्रेस ने कहा- ‘2023 में भी धार्मिक भेदभाव हो रहा है’

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें