- Advertisement -
- Advertisement -

Sajid Nadiadwala Honoured: इंडो-अबू धाबी एंटरटेनमेंट के लिए अम्बेसडर के रूप में मिला मान्यता का प्रमाण पत्र!

निर्माता-निर्देशक साजिद नाडियाडवाला को हाल ही में इंडो-अबू धाबी रिलेशन को बढ़ावा देने के लिए मोहम्मद खलीफा अल मुबारक के तहत अबू धाबी में इंडो-अबूधाबी एंटरटेनमेंट के लिए अम्बेसडर होने के प्रतिष्ठित सम्मान से सम्मानित किया गया है।


Sajid Nadiadwala Honoured: अपने देश को वैश्विक स्तर पर फिर से गौरवान्वित करते हुए, निर्माता-निर्देशक साजिद नाडियाडवाला (Sajid Nadiadwala) को हाल ही में इंडो-अबू धाबी रिलेशन को बढ़ावा देने के लिए मोहम्मद खलीफा अल मुबारक के तहत अबू धाबी में इंडो-अबूधाबी एंटरटेनमेंट के लिए अम्बेसडर होने के प्रतिष्ठित सम्मान से सम्मानित किया गया है।

अपनी असंख्य उपलब्धियों में एक ओर नाम जोड़ते हुए, नाडियाडवाला (Sajid Nadiadwala Honoured) ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट के संस्थापक को, इंडो-अबू रिलेशन को प्रमोट करने के लिए मोहम्मद खलीफा अल मुबारक के तहत उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों और योगदान के लिए ‘इंडो-अबू धाबी एंटरटेनमेंट के लिए रिकॉगनाइजेशन अम्बेसडर के प्रमाण पत्र’ से सम्मानित किया गया है।

यह सम्मान एच. ई. मोहम्मद खलीफा अल मुबारक की मौजूदगी में दिया गया था। यह पुरस्कार ट्वोफोर54 अबू धाबी के सीईओ श्री माइकल गारिन और एमरिट के मीडिया और मनोरंजन केंद्र द्वारा प्रदान किया गया है। साजिद नाडियाडवाला की उपलब्धियों में एक ओर नाम जोड़ते हुए, अबू धाबी सरकार ने उन्हें उनके योगदान के लिए एक गोल्ड वीजा भी प्रदान किया है।

अल मुबारक अबू धाबी कार्यकारी परिषद के सदस्य है, जो संस्कृति, पर्यटन, मीडिया, मनोरंजन और रियल एस्टेट क्षेत्रों में एमरिट के कुछ सबसे महत्वपूर्ण संस्थानों की देखरेख करते है।

साजिद नाडियाडवाला कहते हैं,”महामहिम मोहम्मद खलीफा अल मुबारक से यह प्रतिष्ठित सम्मान प्राप्त करना एक सम्मान की बात है। नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट की ओर से, मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने इसे संभव बनाया है। अबू धाबी में हमारा अनुभव अद्भुत रहा है और आगे भी जारी रहेगा। हम अपनी फिल्मों के माध्यम से भारत को अबू धाबी की सुंदरता दिखाने के लिए उत्सुक हैं।”

इंडो-अबू धाबी रिलेशन्स के हिस्टोरिकल मूवमेंट को देखने के लिए कार्यक्रम में उपस्थित विशिष्ट गणमान्य व्यक्तियों में अबू धाबी के फिल्म आयोग के प्रमुख श्री हंस फ्रैकिन और रेड फिल्म्स के संस्थापक बुशरा महदी शामिल हुए थे।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय मनोरंजन उद्योग का प्रतिनिधित्व करना वास्तव में बहुत गर्व की बात है। इससे पहले वह वोलार अवार्ड भी जीत चुके है जो उन फिल्म निर्माताओं को सम्मानित करता है जिन्होंने इंडिया-इटली दोस्ती को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। फ्रांस और दुनिया भर में कला के प्रभाव में उनके योगदान के लिए उन्हें फ्रांस के प्रतिष्ठित शेवेलियर डान्स एल’ऑर्ड्रे डेस आर्ट्स एट डेस लेट्रेस (नाइट ऑफ द ऑर्डर ऑफ आर्ट्स एंड लेटर्स) पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

साजिद नाडियाडवाला और उनकी टीम वर्तमान में अबू धाबी के साथ सहयोग करने के लिए विभिन्न परियोजनाओं पर काम कर रही है।

ये भी पढ़ें: Woh Ladki Hai Kahaan: तापसी पन्नू और प्रतिक गांधी ने अपनी आने वाली फिल्म ‘वो लड़की है कहां’ की शूटिंग की पूरी

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें