- Advertisement -
- Advertisement -

Paan Singh Tomar के राइटर Sanjay Chouhan का 62 की उम्र में निधन

संजय चौहान का 12 जनवरी को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो हुआ। संजय चौहान को 'पान सिंह तोमर', 'मैंने गांधी को नहीं मारा', 'धूप', 'साहेब बीवी गैंगस्टर' और 'आई एम कलाम' जैसी फिल्मों के लिए भी जाना जाता है


Sanjay Chouhan Passed Away: बॉलीवुड से आज एक दुखद खबर सामने आई है। बॉलीवुड के मशहूर लेखक संजय चौहान (Sanjay Chouhan) का निधन हो गया है। 62 साल के संजय चौहान ‘पान सिंह तोमर’ जैसी कई शानदार फिल्मों के राइटर थे। संजय चौहान का 12 जनवरी को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो हुआ। वह पिछले कई सालों से लीवर की बिमारी से पीड़ित थे। संजय के निधन से बॉलीवुड में शोक की लहार छाई है। उनके फैंस और इंडस्ट्री के तमाम लोग सोशल मीडिया के जरिए श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे है।

संजय चौहान के निधन से इंडस्ट्री में शोक की लहर है। संजय के परिवार में पत्नी सरिता और बेटी सारा चौहान हैं। उन्हें ‘पान सिंह तोमर’, ‘मैंने गांधी को नहीं मारा’, ‘धूप’, ‘साहेब बीवी गैंगस्टर’ और ‘आई एम कलाम’ जैसी फिल्मों के लिए भी जाना जाता है। इतना ही नहीं उन्होंने तिग्मांशु धूलिया के साथ ‘साहेब बीवी गैंगस्टर’ जैसी कई फिल्में लिखीं। संजय चौहान लेखन बंधुत्व के अधिकार के लिए भी सक्रिय रहे। माना जा रहा है कि आज दोपहर साढ़े 12 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

संजय चौहान को ‘आई एम कलाम’ के लिए बेस्ट स्टोरी के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। अंतिम संस्कार आज दोपहर 12:30 बजे मुंबई के ओशिवारा श्मशान घाट में किया जाएगा। उन्होंने कई शानदार फिल्मों में काम किया है। कई शानदार फिल्मों के लिए भी उन्हें खूब सराहना मिली।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संजय चौहान मध्य प्रदेश के भोपाल के रहने वाले थे। उनके पिता रेलवे में कार्यरत थे। उन्होंने दिल्ली में एक पत्रकार के रूप में अपना करियर शुरू किया। इसके बाद साल 1990 में उन्होंने सोनो टीवी के लिए क्राइम बेस्ड सीरीज ‘भंवर’ के लिए लिखना शुरू किया और मुंबई आ गए। साल 2003 में सुधीर मिश्रा की मशहूर फिल्म ‘हजारों ख्वाहिशें ऐसी’ के डायलॉग के लिए जाने जाते हैं।

ये भी पढ़े : Pathaan रिलीज से पहले SRK और John Abraham में टेंशन की खबर, अभिनेता ने दी अब सफाई

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें