- Advertisement -
- Advertisement -

Aamir Khan के चाचा Nasir Hussain और Asha Parekh की लव स्टोरी की ये अनोखी कहानी पिघला देगी आपका दिल

साल 1959 में नासिर हुसैन ने शमी कपूर और आशा पारेख को फिल्म दिल देके देखों में लिया। आशा पारेख की ये डेब्यू फिल्म थी। इस फिल्म के बाद आशा पारेख ने नासिर हुसैन की कई फिल्मों में काम करते दिखी। जिसके बाद दोनों की प्यार की खबरें बाहर आई। जानिए पूरी खबर


Nasir Hussain-Asha Parekh Love Story: बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में अपने एक्टिंग का झंडा गाड़ने वाले एक्टर आमिर खान (Aamir Khan) अक्सर किसी ना किसी वजह से इंटरनेट की सुर्खियों में बने रहते हैं। हाल ही में आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा रिलीज हुई जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिट गई। इस फिल्म को रिलीज होने से पहले ही बॉयकॉट करने की मांग करदी गई थी। आमिर खान को बॉलीवुड का मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहा जाता हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं आमिर के चाचा जिनका नाम नासिर हुसैन (Nasir Hussain) है उन्होंने ने भी फिल्म इंडस्ट्री में अपना बहुत योगदान दिया हैं। ऐसा कहा जाता है कि नासिर हुसैन बचपन से ही थिएटर की तरफ आकर्षित थे।

बता दे, नासिर हुसैन साहब ने फिल्म इंडस्ट्री को कई लाजवाब फिल्में दी हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं नासिर साहब की लव स्टोरी भी बहुत कमाल की थी। नासिर खान को एक मसाला फिल्म बनाने के लिये जाना जाता था। तो चलिए आपको बताते हैं नासिर हुसैन और बॉलीवुड की दिग्गज एक्ट्रेस आशा पारेख (Asha Parekh) की अनोखी लव स्टोरी के बारे में।

साल 1959 में नासिर हुसैन (Nasir Hussain-Asha Parekh Love Story) ने शमी कपूर और आशा पारेख को फिल्म दिल देके देखों में लिया। आशा पारेख की ये डेब्यू फिल्म थी। इस फिल्म के बाद आशा पारेख ने नासिर हुसैन की कई फिल्मों में काम करते दिखी। पहली फिल्म के वक्त आशा पारेख की उम्र महज 17 साल थी। काम के दौरान दोनों एक दूसरे से प्यार कर बैठे। बता दे, नासिर हुसैन पहले से ही शादी शुदा थे और उनके 2 बच्चे भी थे। हलाकि लंबे समय के बाद आशा पारिख ने इस रिश्ते को खत्म कर दिया और एक्ट्रेस नहीं चाहती थीं की उनकी वजह से किसी की शादी शुदा जिंदगी खराब हो।

एक इंटरव्यू के दौरान खुद आशा पारेख ने इस बात का खुलासा किया था कि उन्होंने नासिर हुसैन (Nasir Hussain Unknown Facts) के अलावा कभी किसी से भी प्यार नहीं किया था। नासिर से रिश्ता टूटने के बाद उन्होंने कभी शादी भी नहीं की। उन्होंने ये भी बताया था की उनकी माँ हर हाल में उनकी शादी कराना चाहती थी लेकिन उनका ऐसा कहना था कि जब तक उन्हें कोई मन पसंद का नहीं मिल जाता तबतक वह शादी नहीं करेंगी। लेकिन ना उन्हें कोई मिला ना उन्होंने आज तक कभी शादी की।

आपको बता दे, आशा पारेख भारतीय सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। उन्होंने बतौर मुख्य किरदार अपनी पहली फिल्म ‘दिल दे के देखो’ में निभाया। ये फिल्म सफल हुई थी। लगभग 80 फिल्मों में बतौर एक्ट्रेस काम कर चुकीं आशा पारेख की तमाम फिल्में बेहद पसंद की गईं। जिनमें ‘जब प्यार किसी से होता है’, ‘घराना’, ‘भरोसा’, ‘मेरे सनम’, ‘तीसरी मंजिल’, ‘दो बदन’, ‘उपकार’, ‘शिकार’, ‘साजन’, ‘आन मिलो सजना’ प्रमुख हैं।

ये भी पढ़ें: रिलीज के पहले ही Ajay Devgn और Sidharth Malhotra की Thank God को लगा तगड़ा झटका, इस जगह फिल्म हुई बैन

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें