- Advertisement -
- Advertisement -

Aryan Khan Drugs Case: आर्यन खान क्रूज ड्रग्‍स केस में आया नया ट्विस्‍ट, प्रभाकर सैल की मौत से हुआ सबकुछ उलटफेर

आर्यन खान ड्रग केस के गवाह प्रभाकर सैल का दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन


Aryan Khan Drugs Case: बॉलीवुड के किंग यानी शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) से जुड़े क्रूज ड्रग्‍स केस (Aryan Khan Cruise Drugs Case) में फिरसे एक नया ट्विस्‍ट आ गया है। आपको प्रभाकर सेल (Prabhakar Sail) का नाम तो याद होगा, हाँ वही शख्‍स जिसके खुलासों ने क्रूज ड्रग्‍स केस को पूरी तरह उलटकर रख दिया था। वही प्रभाकर, जिसने केस की जांच कर रहे एनसीबी के जोनल डायरेक्‍टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर 8 करोड़ रुपये की रिश्‍वतखोरी का आरोप लगाया था। जिसके इस बयान ने सबको चौंका दिया था कि 2 अक्‍टूबर 2021 की रात आर्यन खान को क्रूज से हिरासत में लेने के बाद शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी (Pooja Dadlani) किरण गोसाव (Kiran Gosavi) जिसकी सेल्‍फी आर्यन खान के साथ एनसीबी दफ्तर से वायरल हुई थी उससे आकर मिली थी।

आपको याद ना हो लेकिन उस वक्त प्रभाकर सेल ने हलफनामा दिया था कि उसकी जान को खतरा है। बहरहाल, प्रभाकर के वकील तुषार खंडारे ने बताया है कि चेंबूर के माहुल इलाके में शुक्रवार को हार्ट अटैक आने की वजह से घर पर ही उसकी मौत हो गई है। लेकिन यहां गौर करने वाली बात ये है कि, प्रभाकर की मौत ऐसे वक्‍त हुई है जब बीते दिन ही कोर्ट ने नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो को चार्जशीट दाखिल नहीं कर पाने के कारण फटकार लगाई थी।

आर्यन खान केस में कितना अहम था प्रभाकर?

प्रभाकर द्वारा किए गए दावों से इस बात की आसानी से तस्‍दीक की जा सकती है कि उसकी गवाही इस केस में कितनी अहम थी। आपकों बतादें कि जिस वक्त ये केस अपने चरम पर था तब किरण गोसावी के बॉडीगार्ड रहे प्रभाकर ने अपने दावों के साथ पुलिस को एक हलफनामा सौंपा था। जिसमें साफ तौर पर ये कहा गया था कि 2 अक्‍टूबर की सुबह 7:30 बजे से लेकर 3 अक्‍टूबर की शाम तक वह सीधे तौर पर इस केस से जुड़ा हुआ था और उसने सबकुछ अपनी आंखों के सामने होते देखा। लेकिन प्रभाकर को बार बार ये डर सता रहा था कि कहीं NCB उसे भी गायब ना करदे इसीलिए उसने हलफनामा दायर कर सनसीखेज खुलासे तो किए ही थे साथ ही अपने लिए सुरक्षा भी मांगी थी।

कैसे उलझ गया था आर्यन खान केस?

आर्यन खान केस में जब प्रभाकर सेल ने कोर्ट में एफिडेविट दिया कि एनसीबी की तरफ से आर्यन खान पर केस ना बनाने के लिए किरण गोसावी के जरिए 25 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगी गई है। साथ ही प्रभाकर ने ये भी कहा कि मैंने फोन पर सुना था कि 25 करोड़ में से एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे को 8 करोड़ रुपये देने की बात कही गई थी। और यही वो मोड़ था जब आर्यन खान केस (Aryan Khan Crusie Drugs Case) एकदम उलझ गया था और अब प्रभाकर की मौत के बाद इस केस में एक और नया मोड़ आ गया है।

ये भी पढ़ें: S*xual Harrasment Case: कोरियोग्राफर गणेश आचार्य को खानी पड़ सकती है जेल की हवा, दर्ज हुई चार्जशीट 

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें