जब रेखा से शादी करने के चंद दिनों बाद ही मुकेश ने लगा ली थी फांसी, एक्ट्रेस को कहा गया था ‘अपशगुन औरत’

रेखा और मुकेश की चंद मुलाकात के बाद प्रेम कहानी शुरू हो गई। मुकेश अग्रवाल ईमानदारी के साथ रहना पसंद करते थे और उनकी इसी ईमानदारी ने रेखा का दिल जीत लिया था।

जिसकी खूबसूरती देखने के लिए निगाहें तरसे, जिसकी एक झलक के लिए फैंस बेसब्री से इंतजार करते हैं, जो किसी भी इवेंट या फंक्शन को अपनी मौजूदगी से रोशन कर दे, जो अपनी शानदार एक्टिंग से लोगों को मंत्र मुग्ध कर दे, कुछ ऐसी ही है हिंदी सिनेमा की जानी-मानी एक्ट्रेस रेखा। देखा जाए तो रेखा की जिंदगी काफी ग्लैमरस लगती है, लेकिन उनकी निजी जिंदगी बेहद ही दर्दनाक रही है। उनकी जिंदगी में कई पुरुष आए लेकिन किसी ने भी उन्हें सच्चा प्रेम नहीं दिया। और तो और जिससे शादी हुई वह भी बीच में ही दुनिया छोड़कर चला गया। रेखा का नाम उस दौरान काफी सुर्खियों में रहा जब उनके पति मुकेश ने फांसी लगा ली। चलिए जानते हैं रेखा और मुकेश की अनसुनी प्रेम कहानी..

पहली नजर में हुआ था प्यार
दरअसल, रेखा फिल्मों के सिलसिले में अक्सर दिल्ली आती रहती थी। यहां पर उनकी मुलाकात मुकेश से हुई। मुकेश एक मशहूर बिजनेसमैन हुआ करते थे। रेखा और मुकेश की चंद मुलाकात के बाद प्रेम कहानी शुरू हो गई। दरअसल, मुकेश अग्रवाल बहुत ही सादगी भरे इंसान थे, वह ईमानदारी के साथ रहना पसंद करते थे और उनकी इसी ईमानदारी ने रेखा का दिल जीत लिया था। इन दोनों ने करीब 1 से 2 महीने तक ही एक-दूसरे को डेट किया और इसी बीच साल 1989 में जुहू के एक मंदिर में रेखा और मुकेश अग्रवाल ने शादी रचा ली।

डिप्रेशन का शिकार हो गए थे मुकेश
शादी के बाद कुछ दिनों तक उनकी जिंदगी बहुत ही खुशहाल रही, लेकिन अचानक मुकेश अग्रवाल को अपने बिजनेस में लॉस होने लगा जिसकी वजह से वह काफी परेशान हो गए। इतना ही नहीं बल्कि रेखा भी काफी परेशान हो गई थी। शादी के बाद मुकेश और रेखा एक दूसरे से अलग रहते थे। दरअसल, रेखा फिल्मों के सिलसिले में मुंबई रहा करती थी और मुकेश अग्रवाल दिल्ली रहते थे। ऐसे में अक्सर रेखा मुकेश से मिलने के लिए बार-बार दिल्ली आया करती थी जिससे मुकेश चिढ़ गए थे।

धीरे-धीरे मुकेश रेखा के फिल्मी करियर से भी चिढ़ने लगे थे। दरअसल, मुकेश चाहते थे कि रेखा फिल्म इंडस्ट्री को छोड़कर उनके साथ सेटल हो जाए और खुशहाल जीवन जिए। इसी बीच मुकेश अग्रवाल डिप्रेशन का शिकार हो गए। इतना ही नहीं बल्कि वह रेखा से छुप-छुप कर दवाइयां भी लेने लगे थे जिससे रेखा उनसे बुरी तरह नाराज हो गई थी और दोनों के बीच बातचीत बंद हो गई। बात इतनी बिगड़ गई थी कि शादी के 6 महीने बाद ही उन्होंने तलाक लेने का फैसला कर लिया था।

मुकेश ने लगाई ली फांसी
रेखा से तलाक लेने की खबर सुनते ही मुकेश अग्रवाल और डिप्रेशन में चले गए। इसी बीच साल 1990 में उन्होंने रेखा के ही दुपट्टे से फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। बता दे रखा और मुकेश अग्रवाल की इस प्रेम कहानी का जिक्र रेखा की बायोपिक ‘रेखा: द अनटोल्ड स्टोरी’ में किया गया है। मुकेश अग्रवाल की डेथ के बाद रेखा को खूब आलोचना का सामना करना पड़ा। लोग उन्हें अपशगुन औरत कहने लगे थे। इतना ही नहीं बल्कि लोगों ने रेखा को खूब ताने दिए जिससे वह काफी परेशान हो गई थी। हालांकि समय के साथ रेखा इन सब चीजों से उभर गई और एक नई जिंदगी की शुरुआत की।

बता दें रेखा और मुकेश अग्रवाल से जुड़ी इन सब बातों के बारे में lehren.com पुष्टि नहीं करता है, लेकिन कई मीडिया रिपोर्ट में इस तरह की बातें लिखी गई है जो हम आपसे साझा कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: न पति न प्रेमी… फिर किसके नाम का सिंदूर लगाती हैं Rekha?

ताज़ा ख़बरें