लंदन में रहते हुए संगीतकार Nadeem ने ऐसे की थी फिल्मों की कंपोजिंग, लहरें को दिए टेलीफोनिक इंटरव्यू में किया था बॉलीवुड की गंदी पॉलिटिक्स का खुलासा

संगीतकार जोड़ी नदीम श्रवण के नदीम लंदन में रहते हुए कई सुपरहिट फिल्मों की कंपोजिंग की है। इस बात का कबूलनामा नदीम ने लहरें को दिए एक टेलीफोनिक इंटरव्यू में किया था

Music Composer Nadeems Exclusive Telephonic Interview: गीत संगीत के बिना हमारी हिंदी फिल्में अधूरी मानी जाती हैं। किसी भी फिल्म को हिट बनाने में गीत व संगीत का काफी अहम रोल होता है। बात अगर 90 के दशक की करें, तो इस दौर में आनंद मिलिंद,नदीम श्रवण जैसी संगीतकार जोड़ियों का जमाना था। नदीम-श्रवण ने तो एक साथ कई हिट फिल्में देकर लोगों के दिलों में खास जगह बना ली थी। पर टी-सीरीज के मालिक गुलशन कुमार के मर्डर के बाद संगीतकार जोड़ी नदीम-श्रवण की लाइफ में बहुत चेंजेज देखने को मिले। गुलशन कुमार मर्डर केस में नदीम का नाम सामने आने के बाद वो विदेश फरार हो गए।

नदीम के विदेश फरार होने के बाद उनके फिल्मी करियर पर इसका खासा असर पड़ा, पर बावजूद इसके वो विदेश में रहते हुए भी अपने जोड़ीदार श्रवण के साथ मिलकर फिल्मों के संगीत की रचना करते रहे। नदीम श्रवण के संगीत को निखारने में गीतकार समीर अंजान का काफी अहम रोल रहा है। अगर संगीतकार जोड़ी नदीम श्रवण के करियर पर एक नजर डाले, तो ज्यादातर हिट गाने इस संगीतकार जोड़ी ने समीर के साथ दिए हुए हैं। विदेश जाने के बाद लंदन से लहरें से खास टेलीफोनिक बातचीत में नदीम ने तब बताया था कि कैसे वो बॉलीवुड की पॉलिटिक्स की वजह से विदेश में रहने को मजबूर हुए हैं।

नदीम ने अपने इसी इंटरव्यू में फिल्म ये दिल के संगीत की कंपोजिंग और इसके एक गीत के लिए उस समय की उभरती गायिका नीरजा पंडित को मौका दिए जाने पर भी अपनी राय रखी थी। संगीतकार नदीम का कहना था कि नीरजा की आवाज उन्हे बहुत पसंद आई थी। तो उन्होने उन्हे फिल्म ये दिल के गाने से मौका दिया था। इसके लिए नीरजा ने भी लहरें से बातचीत में इस बड़े मौके के लिए नदीम का शुक्रिया अदा किया था और गीतकार समीर ने भी नीरजा के ब्रेक पर अपनी राय रखी थी। नदीम,नीरजा पंडित और गीतकार समीर का ये पूरा इंटरव्यू आप लहरें रेट्रो यूट्यूब चैनल पर देख सकते हैं।

इसी बातचीत में गीतकार समीर अंजान और नदीम ने एक दूसरे के साथ काम करने और दोनों की बॉन्डिंग पर भी बात की थी। समीर ने संगीतकार जोडी नदीम श्रवण को उस समय की सबसे अच्छी जोड़ी करार दिया था। जिनके साथ उन्होने काम किया था। दोनों के सफलता की शुरूआत महेश भट्ट की फिल्म आशिकी से शुरू हुई थी। जानकारी के मुताबिक नदीन श्रवण की जोड़ी 2005 तक एक साथ काम करती रही। 2005 के बाद नदीम श्रवण से अलग हो गए थे और फिर कई फिल्मों में नदीम ने अकेले संगीत दिया पर वो कामयाबी नहीं मिल पाई थी।

ये भी पढ़े: Hum Aapke Hain Kaun की सफलता के बाद Salman Khan ने इसलिए साइन की थी एक संवाद लेखक की फिल्म Veergati

ताज़ा ख़बरें